Gulzar Shayari : 20+ Best Gulzar Shayari In Hindi With Images

Gulzar-shayari-on-life

Love – Life – Dosti  (Shayari )शायरी का जिक्र जहा भी होता है वह गुलज़ार साहब का नाम जुबा पर जरूर आता है गुलज़ार साहब अपनी लाजवाब शायरी के लिए बोहोत मशहूर हैं | आज भी इंटरनेट पर हजारों लोग सर्च करते है चलिए जानते हैं गुलज़ार साहब के बारे में |

गुलज़ार साहब गीतकार कवि,पटकथा लेखक ,नाटककार हैं । उनको कई सारे ऑस्कर अवॉर्ड भी मिल चुके है को Gulzar में पद्मभूषण अवॉर्ड से नवाजा गया था | दोस्तों गुलजार साहब की बेहतरीन शायरी रीड करने से पहिले गुलज़ार साहब के बारे में शार्ट में जान लेते है |

Gulzar Biography

पूरा नाम / FULL NAME – सम्पूर्ण सिंह कालरा

उपनाम / NICK NAME – गुलजार दिनवी ( बाद में सिर्फ गुलजार)

पिता / FATHER – मक्खन सिंह कालरा

माता / MOTHER – सुजान कौर

जन्म तिथि/Date of Birth – 8 August 1936

जन्म स्थान/Birth Place – Dina Gaon, Punjab

पत्नी / WIFE – राखी गुलजार

बेटी / DAUGHTER – मेघना गुलजार (बोस्की)

व्यवसाय / BUSINESS – कवि, गीतकार और फिल्म निदेशक

शौक / HOBBY – किताबे पढ़ना और लिखना, यात्रा करना

उम्मीद करता हु आपको गुलजार साहब के बारे में जानकारी अच्छी लगी होगी आइये अब पड़ते Gulzar Shayari

Best Collection Of Gulzar Shayari in Hindi

Gulzar shayari on life

मेरी खामोशी में सन्नाटा भी है शोर भी है, तूने देखा ही नहीं..

आंखो में कुछ और भी है ।

हात छूटे भी रिश्ते नहीं छोड़ा करते,

वक्त के शाख़ से लम्हे नहीं तोड़ा करते ।

उम्मीद भी अजनबी लगती है, और दर्द पराया लगता है ..

आइने में जिसको देखा था,

बिछड़ा हुआ साया लगता है ।

Gulzar Shayari on Life

दोस्तों गुलज़ार वैसे तो Life के बारे में ने पे बोहोत सारी शायरी लिखी हुई है उसमें से कुछ बेहतरीन शायरी आप लोगो के लिए लाया Read This Best Collection Of Gulzar Shayari On Life:

Gulzar shayari on life

 

कभी जिंदगी एक पल में गुजर जाती है 
कभी जिंदगी का एक पल नहीं गुजरता |

अच्छी किताबें और अच्छे लोग
तुरंत समझ में नहीं आते हैं,
उन्हें पढना पड़ता हैं |

Gulzar Best 2 Line Shayari

वैसे तो की Gulzar की बोहोत सारी 2 Line Shayari है लेकिन उसमें से मुझे जो अच्छी लगी है वो शायरी आपके लिए लाया हूं : 

लोग तलाशते है , की कोई फिकर मंद हो 
वरना कोन ठीक है यूं हाल पूछने से |

वो पत्थर कहां मिलता है , बताना जरा दोस्तो 
जिसे लोग दिल पर रखकर एक – दूसरे को भूल जाते है |

मुमकिन नहीं है हर किसी के नजर में बेगुनाह रहना, 
बस खुद से ये वादा करो कि अपनी नजर में बेदाग रहे ।

थोड़ा सुकून भी ढूंढिए जनाब ,
ये जरूरतें तो कभी ख़तम नहीं होगी ।

तुम्हारे ख्वाब से हर शब्द लिपट कर सोते हैं 
सजाएं भेज दो , हमने खताए भेजी हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *