Mohabbat Shayari, Apni Jindagi Banaya Hai

Mohabbat Shayari - Apni Jindagi Banaya Hai

Sirf kuch longon Ko hi maine apni jindagi banaya hai,
jo rahate hai mere dilon me, labjome aur duwao me aur aap unhi maise ek hai |
सिर्फ कुछ लोगों को ही मैंने अपनी जिंदगी बनाया है
जो रहते है मेरे दिलों में , लब्जोंमें  और दुवाओ में
और आप उन्ही मेसे एक है । 

Gunj Utati hai aasma me,
Har pal jindgi hai khubsurat agar aadat ho hai muskurane Ki.
गूंज उठती है आसमा में पंछिओं की
हर पल जिंदगी है खूबसूरत, अगर आदत है मुस्कुराने की|

Dhund raha tha koi  cheej, to teri kita mili
Khol ke dekha to har panne me apne pyar ki nishani mili.
ढूंढ रहा था में कोई चीज़, तो तेरी किताब मिली
खोल के देखा तो हर पन्ने में अपने प्यार की निशानी मिली ।

Paya hai tuze ab khoya nahi chahte,
neend to aarahi hai par tujhase Baat kiye bagair sona nahi chahte.
पाया है तुझे अब खोना नहीं चाहते
नींद तो आरही है पर तुझसे बात किये बगैर सोना नहीं है चाहते ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *